भारत हर दिन कितना तेल आयात करता है? इंटरेस्टिंग फैक्ट्स आपकेलिए जरूर पढ़िए।

451

भारत पेट्रोलियम उत्पादों का सबसे बड़ा निर्यातक और एशिया में दूसरा सबसे बड़ा रफाइनर है। भारत का लक्ष्य २०२२ तक तेल और गैस आयात का निर्भरता को १०% काम करना है। तेल कम्पनिया प्रमुख पेट्रोलियम उत्पादों का संयुक्त अरब अमीरात, सिंगापुर, चीन, अमेरिका, टर्की, नेपाल,मलेशिए, नीदरलैंड, अदि जैसे विभिन्न देशों में हाई स्पीड डीजल, मोटर स्पिरिट, एविएशन टरबाइन फ्यूल, नेफ्था आदि का निर्यात करती है।

भारत ने संयुक्त अरब अमीरात, सिंगापुर, और चीन जैसे देशों को २०२१-२२ में २१,४०६ मिलियन डॉलर मूल्य के लगभग ५६,७६९ टीएमटी (हजार मीट्रिक टन) पेट्रोलियम उत्पादों का निर्यात किया। २०१९ में तेल कंपनियों ने ३५,,८४८ मिलियन डॉलर मूल्य के ६५,६८५ टीएमटी ( हजार मेट्रिक टन) का निर्यात किया।

भारत में तेल की मांग २०२१ में ४.९ मिलियन बैरल प्रतिदिन की तुलना में २०४५ तक प्रति दिन लगभग ११ मिलियन बैरल तक पहुँचने की उम्मीद है। भारत सरकार अब ह्य्द्रोज़ेन और इथेनॉल का इस्तेमाल करनेका भी सोच रही है। आनेवाले दिने में फ्लेक्स फ्यूल से गाडी चलेगी। इसके आलावा विद्युत् चलित वाहनों का भी तेजी से इनोवेशन हो रहा है। सरकार भी सब्सिडी दे रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.