जिनके पास घर नहीं है वे तुरंत ग्राम पंचायत में आ’वेदन करें। मोदी सरकार से आया है खुश खबर।

328

केंद्र सरकार ने सोमवार को प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई-यू) के तहत शहरी क्षेत्रों में 16,488 घरों के निर्माण को मंजूरी दी। दरअसल, मंत्रालय ने एक ब’यान के जरिए यह जानकारी जारी की है। अब तक स्वीकृत घरों की कुल संख्या 1.13 करोड़ पहुंच गई है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सरकार बे’घरों को घर बनाकर आवास मुहैया कराती है और उन्हें सब्सिडी भी मिलती है।

सरकार की केंद्रीय स्वीकृति एवं नि’रीक्षण समिति की 54वीं बैठक हुई। बैठक में 13 राज्यों और केंद्र शा’सित प्र’देशों ने भाग लिया। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गृह निर्माण के लिए आ’वेदन कैसे करें? सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत आ’वेदन करने के लिए मोबाइल आधारित आ’वास आ’वेदन तैयार किया है।

इसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। डाउनलोड ट्रिक यह है कि आपको मोबाइल नंबर की मदद से एक लॉगिन आईडी बनानी होगी उसके बाद यह ऐप आपके मोबाइल नंबर पर एक पासवर्ड भेजता है। लॉग इन करने के बाद मांगी गई जानकारी भरें। पीएमएवाईजी के तहत घर के लिए आ’वेदन करने के बाद केंद्र सरकार ला’भार्थियों का चयन करती है। अंतिम ला’भार्थी सूची तब PMAYG वेबसाइट पर जारी की जाती है।

प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) सिर्फ गरीबों के लिए है। और अब शहरी गरीब और मध्यम वर्ग को होम लोन की रा’शि बढ़ाने के दा’यरे में लाया गया है। शुरुआत में पीएमएवाई में होम लोन की राशि 3 से 6 लाख थी, जिस पर ब्याज पर सब्सिडी दी जाती थी, जो अब बढ़कर 18 लाख हो गई है।

EWS (निम्न आर्थिक वर्ग) को वार्षिक घरेलू आय के 3 लाख के लिए नि’र्धारित किया गया है। LIG (निम्न आय वर्ग) की वार्षिक आय 3 लाख रुपये से 6 लाख रुपये के बीच होनी चाहिए। अब 12 से 18 लाख के बीच वार्षिक आय वाले लोग इसका लाभ उठा सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.